May 14, 2021

छत्तीसगढ़ के रायपुर में कोरोना से बिगड़ते हालात, ट्रकों में रख श्मशान घाट ले जाए जा रहे शव


छत्तीसगढ़ में कोरोना के 1 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • भीमराव अंबेडकर अस्पताल का मामला
  • ट्रकों में रख ले जाए जा रहे हैं शव
  • छत्तीसगढ़ में लगातार बढ़ रहे कोरोना केस

रायपुर:

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh Covid 19) की राजधानी रायपुर (Raipur Coronavirus) के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल भीमराव अंबेडकर के कई वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. रायपुर में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले बढ़े तो इस महामारी की चपेट में आने से मृतकों की संख्या में भी इजाफा हुआ है. अस्पताल में शवों को ले जाने के लिए एंबुलेंस की कमी हुई तो शवों को अंतिम संस्कार के लिए ट्रकों में रखकर श्मशान घाट ले जाया जा रहा है. एक ट्रक में 7 से 8 शवों को ले जाया जा रहा है.

यह भी पढ़ें

प्रशासन की ओर से ट्रकों पर शव वाहन लिखवाया गया है. अस्पताल कर्मियों ने बताया कि एंबुलेंस की कमी की वजह से शवों को ट्रकों में ले जाया जा रहा है. भीमराव अंबेडकर अस्पताल के एक वीडियो में वह हिस्सा दिख रहा है, जहां कोविड-19 के संक्रमित मृतकों के शव रखे जा रहे हैं. वीडियो के अनुसार, शव को रखने के लिए फ्रीजर में जगह नहीं है, ऐसे में कुछ तो आसमान के नीचे धूप में स्ट्रेचर पर रखे दिखे तो कई शव जमीन पर पड़े दिखे.

राजस्थान के सभी शहरों में शाम 6 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू की घोषणा

बताया गया कि शवों को परिजनों को सौंपने या फिर अंतिम संस्कार के लिए भेजने की प्रक्रिया में देर हो रही है, जिसकी वजह से शवगृह भर गया था. अस्पताल के अधिकारियों ने कोविड से होने वाली मौतों पर बेबसी जाहिर की. अस्‍पताल में स्थिति यह है कि इंटेसिव केयर यूनिट (ICU) और ऑक्‍सीजन से सज्जित बेड पिछले सप्‍ताह से भर चुके हैं और कोई बेड यहां खाली नहीं है.

रायपुर की चीफ मेडिकल एंड हेल्‍थ ऑफिसर मीरा बघेल कहती हैं, ‘कोई भी यह अंदाजा नहीं लगा सकता था कि एक साथ इतनी संख्‍या में मौतें होंगी. हमारे पास सामान्‍य स्थिति के लिहाज से पर्याप्‍त संख्‍या में फ्रीजर हैं लेकिन हम अगर 10 से 20 के लिए तैयारी कर रहे हैं तो 50 से 60 लोगों की मौत हो रही है.’

दिल्ली सरकार ने कोविड मरीजों के लिए प्राइवेट अस्पतालों के साथ होटल और बैंक्वेट हाल अटैच किए

उन्होंने आगे कहा, ‘एक साथ इतने अधिक लोगों की मौत की स्थिति में आखिर हम इतने फ्रीजर की व्‍यवस्‍था कैसे कर सकते हैं.’ आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, रायपुर में औसतन रोजाना 55 शवों का अंतिम संस्‍कार किया जा रहा है और इसमें से ज्‍यादातर मृतक कोरोना से संक्रमित थे.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि देश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की कुल संख्या में 68.16 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और केरल से हैं.

VIDEO: नहीं टला है कोरोना का खतरा, लापरवाही से बढ़ेगी मुश्किल



Source link

Leave a Comment